fix bar
fix bar
fix bar
fix bar
fix bar
fix bar

काव्य-प्रतियोगिता का आयोजन

रविशंकर सिंह
दिल्ली। श्री गुरु तेग बहादुर खालसा कॉलेज में १-२ नवम्बर को कॉलेज काव्य संस्था ’एर्‍ोस्टिक‘ द्वारा आयोजित अन्तर्महाविद्यालयी काव्य प्रतियोगिता ’शब्दोत्सव‘ में ज्ञानपीठ एवं साहित्य अकादमी युवा पुरस्कार से सम्मानित कवि उमाशंकर चौट्टारी ने युवा कवियों के समक्ष कविता कर्म को सहज प्रवृा से जोडते हुए कहा कि जैसे मुहब्बत नहीं सिखाई जाती है, वैसे ही कविता भी नहीं सिखाई जा सकती है।
युवा समालोचक अमरेन्ध् पाण्डे ने कविता के समकालीन परिदृश्य की रचनाट्टार्मिता में उमाशंकर चौट्टारी एवं अच्युतानंद मिश्र की कविता को अत्यन्त महवपूर्ण बताया। पांडे ने कविता को नए तेवरों से जोडने के लिए युवा कवियों की प्रशंसा करते हुए कहा कि छात्र कवियों की कविताऐ उनकी सजग वर्तमान दृष्टि की परिचायक हैं।
इस काव्य प्रतियोगिता में अन्तरमहाविद्यालय स्तर के लगभग ३०० कवियों में से ३० कवि ही अंतिम दौर तक पहचे। दौलतराम कॉलेज की फराह अजीज ने प्रथम एवं शहीद भगतसिंह कॉलेज के शहजाद ने दूसरा स्थान प्राप्त किया। कार्यर्म का संचालन साक्षी वर्मा एवं हरविंदर कौर ने किया।
प्रस्तुति : रविशंकर सिंह