तीन कविताएँ

डॉ. गार्गी


पेड धुंये को खाते हैं
चंपक वन में हुआ हंगामा
ट्रक ले आए बंदर मामा
घूँ-घूँ धूं-धूं ट्रक चलाते
सब पर अपना रोब जमाते।
बंदर मामा की देखा-देखी
मैना ने भी मोपैड ले ली
झल्लू गधेजी जोश में आये
पुराना स्कूटर खरीद लाये।
हाथी दादा हुये बेकरार
किस्तों पे लाये मारूति कार
जंगल रोड पे बडी बहार
स्कूटर, मोपेड, ट्रक और कार।
ट्रक का डीजल धुंआ उडाता
कार पैट्रोल धुंआ उडाता
मोपेड में से निकले धुंआ
स्कूटर में से निकले धुंआ।
पूरी सडक पे फैला धुंआ
काला-काला गंदा धुंआ
रिक्शा-रेहडी वाले घबराये
धुंये से कैसे पार पायें।
पैदल वालों की शामत आई
सांस लेने में कठिनाई
प्रशासन की सिट्टी गुम
चारों तरफ मचा हडकम्प।
सब पर पडी मुसीबत भारी
घर-घर फैल रही बीमारी
चूहे डॉक्टर जी तंग आये
मरीजों की गिनती बढती जाये।
तीरथ से लौटी गिलहरी दादी
हुई हैरान देख बर्बादी
झटपट सब को किया इकट्ठा
बर्बादी का खोला चिट्ठा।
समझो! यह प्रदूषण फैला
प्रदूषण हवा को करता मैला
मैली हवा बीमारी लाती
आफत बन सब पर छा जाती।
बचने का है सरल उपाय
ढेरों पेड लगाये जायें
पेड धुंये को खाते हैं
प्रदूषण को मार भगाते हैं।
पेड देते शुद्ध हवायें
मुर्गा बोला कुकडू-कूं
इतनी घुटन है मैं क्या करूँ
सबको मैं कितना समझाता
फिर भी कोई बाज न आता।
चिडिया को है दाल पकानी
चिडे को भी खिचडी खानी
दोनों ने चुल्हा सुलगाया
काला-काला धुआं छाया।
ख्रौं-ख्रौं, ख्रौं-ख्रौं आती खांसी
दम घुटता ज्यों लगी हो फांसी
तोते भाई, कबूतर राजा!
कुछ उपाय हो तो बतलाजा।
तोते ने झट मिर्ची खाई
इक तरकीब अक्ल में आई
मुर्गे भाई! मत घबराओ
जल्दी से तुम पेड लगाओ।
पेड देते शुद्ध हवायें
धुआं-खांसी फुर्र हो जायें
हवा चले तो धुआं भागे
धुआं गायब खांसी भागे।
वाहन की सर्विस करवाओ
कल्लु भालू फर्स्ट आया
पापा से स्कूटर मंगवाया
फर्र-फर्र स्कूटर दौडाता
सब पर अपना रोग जमाता।
सुबह दौडाता, शाम दौडाता
कभी नहीं सर्विस करवाता
इंजन में से निकले धुआं
काला-काला गंदा धुआं।
मुर्गी रानी को उल्टी आये
मधुमक्खी का जी मिचलाये
मैना रानी का गला खराब
बिल्ली का ना उतरे ताप।
सब ने मिल कर जोडे हाथ
स्कूटर की करवाओ जांच
मूर्ख कल्लू रहा अडा
सर्विस करवाने नहीं गया।
जब पापा तक पहुँची बात
वो कल्लू के हुये खिलाफ
डांट के बोल-होश में आओ
यूं प्रदूषण मत फैलाओ
फौरन स्कूटर ले कर जाओ
सर्विस करवा कर वापिस आओ
सर्टीफिकेट जरूर लाना
तभी मिलेगा तुमको खाना।
फ्लैट न. एम-११८, आशियाना उत्सव, भिवाडी (राज.), ३०१०१९
मो. ८८८४२५०९५२