पांच कविताएं

परशुराम शुक्ल



आगे बढना है
जब तक हममें दम है, हमको
आगे बढना है।
जिसको पढना लिखना आता।
अपना जीवन सुखी बनाता।
जीवन में कुछ पाना है तो
हमको पढना है।
आगे...
संघर्षों से मत घबराओ।
तूफानों से जा टकराओ।
निश्चय करके अपने मन में
ऊपर चढना है।
आगे...
जो बनना है आज बनो तुम।
भारत माँ का ताज बनो तुम।
एक स्वप्न पूरा होते ही,
दूजा गढना है।
आगे...
जब तक हममें दम है, हमको
आगे बढना है।

वृक्षों के गुण गाते
भारत के सारे नर-नारी,
वृक्षों के गुण गुण गाते।
धरती हरी भरी कर देते।
मीठे-मीठे फल भी देते।
इनसे लेकर जडी बूटियाँ,
सारे रोग भगाते।

वृक्षों के...
वृक्षों के फल-फूल बेरियाँ,
बीज, गोंद, जड, छाल, पत्तियाँ।
अंग सभी इनके उपयोगी,
काम हमारे आते।
वृक्षों के...
लकडी से हम नाव बनाते।
फर्नीचर घर द्वार सजाते।
सूखे वृक्ष काट कर उनसे,
चूल्हा खूब जलाते।
वृक्षों के...
भारत के सारे नर नारी,
वृक्षों के गुण गाते।

पानी को पहचानो
पानी पानीदार बहुत है,
पानी को पहचानो।
पानी से खेती लहराती।
धरती हरी-भरी हो जाती।
पंच तत्व में सबसे बढ कर,
तुम पानी को मानो।
पानी...
पानी सबकी प्यास बुझाता।
जीव-जगत का जीवन दाता।
जब तक पानी है धरती पर,
तब तक जीवन जानो।
पानी...
पानी की बरबादी रोको।
इसके लिए सभी को टोको।
बचत करोगे बूँद-बूँद की,
अपने मन में ठानो।

पानी...
पानी पानीदार बहुत है।
पानी को पहचानो।

अभिनव फूल खिलाओ
भारत माता की बगिया में,
अभिनव फूल खिलाओ।
बच्चों नियमित पढने जाओ।
पढ लिख कर कुछ भी बन जाओ।
माता और पिता का अपने,
जीवन सुखी बनाओ।
अभिनव...
अपने नेताओं को जानो।
अच्छी तरह इन्हें पहचानो।
चुन कर देशभक्त नेता तुम,
देश महान बनाओ।
अभिनव...
अमरीका जैसे बन जाओ।
पाक-चीन को सबक सिखाओ।
भारत का हो मस्तक ऊँचा,
ऐसा कुछ कर जाओ।

अभिनव...
भारत माता की बगिया में,
अभिनव फूल खिलाओ।
लट्टू नाच दिखाता
रंग-बिंरगा लकडी वाला,
लट्टू नाच दिखाता।
मेरा लट्टू बडा निराला।
लाल गुलाबी पीला काला।
गोल गोल है अंडे जैसा,
दो रुपये में आता।
लट्टू...
एक हाथ से इसको पकडो।
फिर इसको डोरी में जकडो।
खींचो जैसे ही डोरी को,
कस कर चक्कर खाता।
लट्टू...
कभी-कभी दो बच्चे आते।
अपने लट्टू साथ नचाते।
जिसका लट्टू ज्यादा नाचे,
अपनी जीत मनाता।
लट्टू...
रंग-बिरंगा लकडी वाला,
लट्टू नाच दिखाता।

आइवंरी-२३, पाँचवीं मंजिल, प्लेटिनम पार्क (प्लेटिनम प्लाजा) भोपाल (म.प्र.)-४६२००३ मो. नं. ०९९२६८५६०८६, ०९८२६७७३२४०