fix bar
fix bar
fix bar
fix bar
fix bar
fix bar

मधुमती -अप्रैल 2019

अप्रैल 2019
मारवाड में साहित्य संरक्षण एवं संवर्द्धन की परम्परा लेखक : डॉ. मोहनलाल गुप्ता
अलविदा नामवर सिंह लेखक : डॉ. पल्लव
ऋतुराज ः जीवनानुभूतियों का अर्थगर्भित छन्द लेखक : डॉ. राजेश कुमार व्यास
मध्यकालीन भाषा - समाज और तुलसीदास लेखक : पंकज पराशर
गाँधी : वाद से परे लेखक : राजीव रंजन गिरि
युद्ध और शान्ति में देश का जीवन लेखक : कश्मीर उप्पल
उत्तर आधुनिकता : आधुनिक परिवेश के संदर्भ में लेखक : रमेश ऋषिकल्प
हिन्दी कहानी का युवा चेहरा लेखक : आशुतोष
नैरेटिव टेक्नीक और हिन्दी कहानी
सिद्ध चितेरा : राजा रवि वर्मा लेखक : भगवती प्रसाद गौतम
बीतता हुआ आज-’’आज है तो बीते हुए वक्त के होने की याद है, और याद आज है।‘‘ लेखक : शर्मिला बोहरा जालान
दुविधा लेखक : राकेश दूबे
दस कविताएँ लेखक : पवन करण
पाँच कविताएँ लेखक : अमित कल्ला
तीन कविताएँ लेखक : नवनीत पाण्डे
छह कविताएँ लेखक : राकेश मूथा
पाँच कविताएँ लेखक : अशोक अनुराग
मेरे प्रेरणास्रोत शिवरतन थानवी लेखक : कमर मेवाडी
सपने में माँ और सुन्दरकांड (राजस्थानी ललित निबन्ध) लेखक : मालचन्द तिवाडी
साँस लेने के लिए संघर्षं लेखक : गिरधर राठी
पहाड और जंगल की जुगलबंदी से उपजा जीवन राग लेखक : डॉ. जगदीश गिरि
एक सार्वकालिक कथाकार का स्मरण लेखक : राहुल शर्मा
चीन : कवि की नजरों से लेखक : असीम अग्रवाल
व्यास सम्मान २०१८ लेखक : लीलाधर जगूडी
रंगमंच में सभी कलाएँ आकर समाहित हो जाती हैं लेखक : भानु भारती
फन और शख्सियत‘ का लोकार्पण लेखक : शीन काफ निजाम
बीकानेर थिएटर फेस्टिवल बना प्रदेश का सबसे बडा रंगमंचीय आयोजन, देशभर में चर्चा का विषय
राजस्थानी उपन्यास ’रात पछै परभात‘ का लोकार्पण